LataHaya.com | Urdu Site

Home

Contact

"नहीं मैं वो अदा जो आशिक़ों की जान होती है, नहीं शम्मे हसीं जो महफिलों की शान होती है, मैं हूँ हालात पर लिखी हुई कोई ग़ज़ल गोया, 'हया' शामिल न हो तो शायरी बेजान होती है "

Introduction:



Read in |



लता हया एक लोकप्रिय उर्दू कवियत्री, टीवी अभिनेत्री और एक सामाजिक कार्यकर्ता है. एक साधारण भारतीय नारी जो अदब में औरत की असाधारण मौजूदगी और इंसानियत की तरफदार है .

आपका जन्म जयपुर के हिंदू ब्राह्मण मारवाड़ी परिवार में हुआ. अपनी प्रतिभा को आपने ख़ूब मेहनत से तराशा और उर्दू अदब के मंचीय खानदान तक पहुंची. कई टीवी धारावाहिकों में अलग अलग भूमिकाओं का प्रदर्शन किया. मुशायरे और कवि सम्मेलनों के मंच पर एक उत्कृष्ट फ़नकार के रूप में स्थापित, 'हया' आज उर्दू अदब में एक चमकता नाम है. 'हया' सिर्फ आपका तख़ल्लुस ही नहीं, ये एक सन्देश है औरतों की अस्मिता के नाम. उदार ह्रदय वाली शाइरा समाज में मोहब्बत, जज़्बात, ईमानदारी और शांति की वकालत करती हैं. हिंदी उर्दू साहित्य में इनके विशिष्ट योगदान के लिए विभिन्न संगठनों द्वारा पुरस्कृत और सम्मानित की गयी हैं.   

 

 

 

Page 1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6

 

  Our well wishers @
Rediff Video YouTube Video Join on Facebook Follow on Twitter Follow on Twitter
MERA KALAAM, AAPKE JAZBAAT | HOME | CONTACT
Copyright © Lata Haya, Mumbai
Designed by Sulabh